#DidYouKnow A retreat ceremony similar to Atari, is being organised at #JCP Hussainiwala since 1970. Unlike Atari, which draws nationalistic tourists from all over India & Pakistan, mostly locals from either side of the border came to witness the ceremony here. #KnowYourForce

Jan 20, 2022 · 11:22 AM UTC

6
52
1
435
अपने बलिदानों से जग में जिनने ज्योति जगायी है, उन पगलों के शोणित की लाली गुलाब में छायी है। अबुध वत्स जो मरे हाय, जिन पर हम अश्रु बहाते हैं, वे हैं मौन मुकुल अलबेले खिलने को अकुलाते हैं!
2
7