मध्यम् मार्ग ही सर्वोत्तम है🌹बुद्धम् शरणम् गच्छामि🌹मेरे ट्वीट 👉 nitter.fdn.fr/search?q=from%3A…

Delhi,India
Joined February 2016
. अपने 'नौकर' को मैंने 1 पाव भिंडी और 1 किलो आलू लेने भेजा.! 100 का नोट दिया.! वो लौटकर आया और अपने काम में लग गया.! मैंने पूछा.. वापसी के पैसे कहां हैं.? बोला.. सारे लग गए.! मैंने पूछा.. क्या भाव दिया.? बोला.. सब्जी वाले और मेरे बीच गुप्त समझौता हुआ है,,भाव नहीं बताऊंगा 😜
528
2,213
132
5,201
santosh gupta retweeted
NCB के साथ भाजपा क्यों खड़ी है ? क्या आर्यन के साथ कोई राजनीति खेल तो नही हो रहा ?
11
127
3
256
1,389
santosh gupta retweeted
जब से नरेंद्र मोदी सत्ता में आये हैं तब से 35000 उद्योगपतियों ने भारत को छोड़ कर विदेश चले गए क्योंकि यह सरकार सिर्फ 2 उद्योगपति के चक्कर में सभी को भगा रही है। telegraphindia.com/amp/busin…
0
5
0
11
Replying to @BhootSantosh
10 अप्रैल का वो दिन भूल नही सकता अपने पापा को लेकर एक हॉस्पिटल से दूसरे के चक्कर लगाता रहा दिनभर, हाथ जोड़े मिन्नतें की..सब लुटाने को तैयार था..लेकिन जब तक हॉस्पिटल मिला बहुत देर हो गयी थी, मैंने अपने प्यारे पापा को खो दिया..! कौन सा जशन मनाऊ 100 करोड़ वैक्सीन का..!
0
7
0
16
Replying to @BhootSantosh
गुरु जी.. झारखंड HC के चीफ जस्टिस रवि रंजन ने कहानी टाइप वाली चार्जशीट पेश करने पर CBI को लताड़ भी लगायी, बोले- "बाबू-डॉम की तरह काम करते हो क्या" बाकी जज साहब की हत्या के केस का क्या होगा, वो शाहों जाने..लेकिन CBI अब 'तोता बाबू' हो गयी है..!!🙄
0
5
0
14
मॉर्गन स्टेनली की रिपोर्ट है कि 2014 से 18 के बीच, हाई नेटवर्थ वाले 23 हजार बिजनेस टायकूनों ने देश छोड़ दिया.! एफ्रएशिया बैंक की रिपोर्ट के अनुसार 2019 में 7000, और GWM रिव्यू के मुताबिक 2020 में 5 हजार उद्यमियों ने देश छोड़ा.! अगर इतना ही विकास है, तो लोग भाग क्यों रहे हैं.?
15
86
4
177
santosh gupta retweeted
40 -45 हजार हर महीने इन्कम टैक्स में देने के बाद भी अगर कोई मझे कहता है कि सरकार फलां चीज तुम्हें मुफ्त में दे रही है तो चप्पल उतार 40 हजार बार उसको धर देने का मन करता है .....
8
104
2
293
santosh gupta retweeted
हिन्दुमुस्लमान क्या नया उभरा है? 1920से है।ब्रिटिश लोग चाहते थे कि भारतीय कभी एक हो न पाएँ।तभी जातिधर्मकी विभेद उन्होंने आरम्भ किए। तबतक हम आपसमे नही लढते थे खुलकर!इसको जिन्होंने हवा दिए वे आज भी बरकरार है। पहले हममें राष्ट्रीयता थी तो संघ भजपा सुप्त थे!क्षत्रिय बने तो ये हाल है!
4
21
0
50
santosh gupta retweeted
एक -एक ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए रुलाया है तुमने !! अब 100 करोड़ लगा दो या 200 करोड़..... मेरे पापा को तुम वापस नहीं ला सकते मिस्टर @PMOIndia
17
154
3
295
पहले आया डिजिटल इंडिया। फिर आयीं डिजिटल कंपनियां। फिर हुई नोटबंदी। जनता हुई कैशलेस। फिर आयी GST। बर्बाद हुआ छोटा व्यापारी। फिर लगे ATM चार्ज। डिजिटल पेमेंट बनी मज़बूरी..! बाबू जी की नोटबंदी आतंकवाद या कालेधन के खिलाफ़ नही, डिजिटल कंपनियों के फायदे के लिए थी..!! @BhootSantosh
1
41
0
94
santosh gupta retweeted
Replying to @BhootSantosh
नाच के लिए नचनिया चाहिए,नचनिया के लिए दर्शक।मोदी के नृत्य पर दर्शक के रूप में अंधभक्तों जमात की सेना खड़ी है। अनपढ़ गंवार होते है यह सतयुग की बात है लेकिन कलयुग में पढ़ा लिखा गंवार है। काले विनाश विपरीत बुद्धि भईल। ज्ञानान्धता से ग्रसित अति तुच्छ महत्वाकांक्षी दर्शक से संभव नाच।
0
7
0
16
santosh gupta retweeted
वोटों का बंटवारा, छद्म धर्मनिरपेक्षता, अधिकार, वर्चस्व, जातिधर्म, क्षत्रियवादी लोग, भ्रष्ट तंत्र व व्यवस्था तथा युवा और पढेलिखोंकी गुलामी देशको सम्पूर्ण ध्वस्त कर दिया। अब ये सरकार बदलेगी भी तो जो आएगा उसको वर्षों लग जाएगा ठीक करने में।
3
8
0
8
santosh gupta retweeted
और फिर इस बात को भी ना भूले की केंद्रीय कर्मचारी के 3% DA वृद्धि से 9488 Cr का बोझ आता है। 18 महीने औसतन 3%, 4%, 3% DA की वृद्धि कर्मचारियों को ना दे कर सरकार ने कितना पैसा बटोरा। महंगाई के हर पहलू को सीधे से कोविड़ से जोड़ देने की सुलभ सुविधा जो प्राप्त है!👍😭👍
0
9
0
18
Replying to @BhootSantosh
कोरोना से मौतों पर चुप, किसानों की हत्या पर चुप, मंहगाई पर चुप, बेरोजगारी पर चुप, अर्थव्यवस्था पर चुप, चीन पर चुप..! मनमोहन सिंह को गूंगा कहने वाले असली चुप्पे तो बाबू जी हैं..हर विपदा, मुसीबत के वक़्त चुप हो कर छुप जातें है..! बाकी फेंकता तो सूरमा भोपाली भी बहुत बढ़िया था..!!
0
12
0
27
santosh gupta retweeted
Replying to @BhootSantosh
संतोषजी, हम ये नही भूल सकते कि इतनी सारी मौते O2 की शॅार्टेजके हम सब साक्षीदार है। लेकीन बादमे बहुसंख्य राज्य सरकारोनेभी O2 की कमीसे इन्कार किया था। इसके बाद ,अगर करोनाके आनेका वे इन्कार करेंगे तो कमसे कम मुझे तो अचरज न होगा पता नही सत्तामें आतेही लोग इतने अमुलाग्र कैसे बदलते है
1
5
0
11
santosh gupta retweeted
आक्सीजन की कमी से लेकर दवा व बेड के अभाव में मृत भारतीय नागरिकों पर सरकार की जवाबदेही बनती है सम्मान जनक अंत्येष्टि पर तानाशाही रवैया की जिम्मेदारी बनती है।केवल उत्सव महोत्सव से पाप धूल नहीं पाएगा मस्तक पर लगा कलंक का टीका ना कभी होगा फीका कोरोना आया था और मृतक छिपाया कायरों ने।
0
10
0
20
आटो से कुचल कर जज की मौत मामले की जांच HC की निगरानी में चल रही थी, और CBI ने चार्जशीट धनबाद की CBI कोर्ट में जमा करा दिया.! अब नाराज झारखंड HC ने CBI निदेशक को पेश होने का आदेश दिया है.! CBI के व्यवहार से शक हो रहा है, कहीं जज को लोया बनाने में रंगा बिल्ला गैंग का हाथ तो नहीं.?
21
275
5
596
santosh gupta retweeted
75 साल की आज़ादी के इतिहास में मोदी जी ही अकेले ऐसे प्रधानमंत्री होंगे जिन्होंने शायद ही कोई दिन TV पर कुछ न कुछ बोलने का कोई मौका छोड़ा हो... अब तो वाकई राष्ट्र के नाम सम्बोधन का कोई औचित्य ही नही बचा, बन्दा ये शब्द सुनते ही समझ जाता है कि आए-माए-शाए के अलावा कुछ न होना.!!
11
56
2
165
santosh gupta retweeted
1985 से राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान के तहत हर बच्चे को बचपन में मुफ़्त में 6 से अधिक टिके लगाए जाते है।Polio ड्रॉप तो हर हफ़्ते घर घर जा कर पिलाया गया,लेकिन किसी PM उसका प्रचार करते नहीं देखा।अफ़सोस होता है ऐसी हरकतें देख कर जो स्तर ने बहुत नीचे हो।
4
148
1
444