संघर्ष व बलिदान कभी व्यर्थ नहीं जाता 'किसानों की सभी मांगे लगभग मानें जाने की स्टेज पर हैँ 'इससे इतर हवा में यह भी बातें हैँ कि धीरे धीरे जाटों को कुछ अन्य लाभ भी दिए जायेंगे! लेकिन 1 अपवाद भी हैँ कि 1 सज्जन की तपस्या फैल हो गयी 'इस फेल तपस्या के बारे में क्या विचार हैँ आपके?😜

5:54 AM · Dec 8, 2021

5
42
0
107
Replying to @I_am_Anil_Tyagi
वो परमानेंट फेलियर है , २०२२ और २०२४ में सब जोर लगाएं और इनको बहार का रास्ता देखायें -तभी देश का भला होगा
1
2
0
2
Replying to @I_am_Anil_Tyagi
इतने नेक विचार है बता नही सकता 😂
1
2
0
2
Replying to @I_am_Anil_Tyagi
प्रणाम अनिल गुरुजी आपका दिन शुभ और मंगलमय हो !! 🙏🌹🙏🌹🙏
1
1
0
3
तस्लीम काशिफ भाई 🌹
0
1
0
4
Replying to @I_am_Anil_Tyagi
इस तपस्या के बारे विचार ट्विटर पर बताना सम्भव नही है। इतनी फेल थी कि लिस्ट बनाने में।कई पेज का निबन्ध तैयार हो जाएगा😢😊
1
3
0
5
Replying to @I_am_Anil_Tyagi
देश का किसान मजदूर ही देश चलाता है... #KisanMajdoorEktaZindabaad
0
2
0
1