आज कई लोग भारत के वैक्सीनेशन प्रोग्राम की तुलना दुनिया के दूसरे देशों से कर रहे हैं। भारत ने जिस तेजी से 100 करोड़ का, 1 बिलियन का आंकड़ा पार किया, उसकी सराहना भी हो रही है। लेकिन, इस विश्लेषण में एक बात अक्सर छूट जाती है कि हमने ये शुरुआत कहाँ से की है: PM @narendramodi
137
1,119
33
5,358
दुनिया के दूसरे बड़े देशों के लिए वैक्सीन पर रिसर्च करना, वैक्सीन खोजना, इसमें दशकों से उनकी expertise थी। भारत, अधिकतर इन देशों की बनाई वैक्सीन्स पर ही निर्भर रहता था: PM @narendramodi

4:36 AM · Oct 22, 2021

55
540
12
1,671
Replying to @PMOIndia
बहुत बहुत बधाई माननीय @narendramodi जी शायद इसी से ही देश में आत्मविश्वास बना हुआ है।
0
0
0
1
Hum abhi bhi unki khoji hui vaccine pe dependent hai aur aapke ministers ki baatein sune toh humein vaccine ki jarurat hi nahi thi. Thank you Modiji!
0
0
0
1
मोदी जी देश को वैज्ञानिको को अपमानित न करे! भारत वर्ष-1953 से वैक्सीन बना रहा! वही भारत दुनिया के सबसे बड़े #Vaccine निर्यातक देशो में एक! अपने महिमामंडनके लिए गप्प मत हाको!!!!!
0
0
1
5
जिस किसी ने इस वैक्सीन को ईजाद किया उसे मेडिसिन का नोबेल पुरस्कार मिलना चाहिए। हो सकता है इस मांग से भारत में एक और नोबेल पुरस्कार आ जाए।
0
0
0
1
Sir please help me sir please call me sir please 7009623326
0
0
0
1
100 करोड टिके हुये देश के प्रधानमंत्री उत्सव मानाने मैं लगे हुये हैं सरकार मैं हिम्मत होगी और नियत साफ होगी तो कितने टिके लोगों ने खरीदे और कितने टिके सरकार ने दिये एक बार बोल दे सब हकीगत सामने आयेगी जुमलेबाझ केंद सरकार
0
0
0
1