ज़िंदगी सँवारने को तो ज़िंदगी पड़ी है ,वो लम्हा संवार लो जहाँ ज़िंदगी खड़ी है । #SaturdayMorning #GodMorningSaturday
113
35
7
1,004