कम-ज़्यादा में अटकी दुनिया दारी है वक़्त-वक़्त पर सबका पलड़ा भारी है जिसको तुमने मेरी बात कही जाकर याद रहे ! मुझसे भी उसकी यारी है #anamikamberpoem

4:31 PM · Oct 22, 2021

28
112
1
1,014
Replying to @anamikamber
फिर आप धोखेबाज हो
0
0
0
0
Replying to @anamikamber
उम्र ज़ाया कर दी लोगों ने औरों के वजूद में नुक़्स निकालते निकालते.. इतना ही खुद को तराशा होता तो फ़रिश्ते बन जाते..।।
0
0
0
2
Replying to @anamikamber
So beautiful di.......💞
0
0
0
0
Replying to @anamikamber
वाह वाह क्या बात है जी 👌👌👌😊
0
0
0
0
Replying to @anamikamber
तब भी था गुरबतो का सफर मेरा । आज भी मुफलिसी का सफर जारी है । तुम आए तो यकीन हुआ दिन बदलेंगे । पता ना था तुम्हारी भी उनसे पुरानी यारी है ।।
0
0
0
2
Replying to @anamikamber
Bahut badiya,
0
0
0
0
Replying to @anamikamber
क्या बात क्या बात
0
0
0
0
Replying to @anamikamber
Bhai se bhi dogune dam me fekti hai.
0
0
0
0