केवल इतना ही पूछना है~ कि जो लोग दूसरे धर्म से हिन्दू बनाए गए हैं, वो कौन-सा ज़िहाद था.? और इसके नागपुरी या विदेशी फंडिंग की जांच कौन करेगा.?
16
262
6
593
अपने कर्मों का मूल्यांकन करने का आचरण होता तो इतनी खोखली दलीलें और कलह न होती ।

3:33 PM · Sep 23, 2021

0
0
0
0